July 7, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

इटावा 10 जून*अंतर्राष्ट्रीय अभिलेख एवं चंबल संग्रहालय के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।

इटावा 10 जून*अंतर्राष्ट्रीय अभिलेख एवं चंबल संग्रहालय के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य वक्ताओं ने अपने विचार प्रकट किए। संस्था के संस्थापक किशन पोरवाल ने कहा कि चंबल संग्रहालय की स्थापना आज के दिन की गई थी।जिसमें आजादी के आंदोलन से जुड़े दस्तावेजों के अलावा दुनिया की सैकड़ों की तादात में ऐतिहासिक पुस्तकों को संग्रह धरोहर के रूप से संरक्षित किया गया है।वह इसके लिए 70 वर्षों से लगातार जुटे हुए हैं।
सामाजिक कार्यकर्ता रौली यादव ने कहा कि जिले भर में चम्बल संग्रहालय एक संस्था है।जिसने सिर्फ देश ही नही बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी एक अलग पहचान कायम की है |इसमें 50 हजार किताबें,ग्रंथ, पुस्तकें,ताम्रपत्र,पाण्डुलिप्यान, डाक टिकट,प्राचीन सिक्के,पुराण, उपनिषद,वेद,कुरान,बाइबिल, दुर्लभ वस्तुएं,चित्र,प्रिंट्स, लिथोग्राफ एवं फोटो आदि संकलित किये हुए हैं।यह बहुत बड़ी उपलब्धि है।इस अवसर पर जिला पूर्ति अधिकारी विकास कुमार,मोहित यादव,माधवेन्द्र पोरवाल,सूरज, पवन,श्रीमती रत्ना,मेधावी एवं श्रेष्ठ आदि लोग उपस्थित रहे