July 23, 2021

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

अयोध्या 20 जुलाई *20 वर्ष पूर्व बनी सड़क जर्जर व गड्ढों में तबदील राहगीरों का चलना हुआ मुश्किल*

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

*अब्दुल जब्बार एडवोकेट व डॉ0 मो0 शब्बीर की रिपोर्ट*

अयोध्या 20 जुलाई *20 वर्ष पूर्व बनी सड़क जर्जर व गड्ढों में तबदील राहगीरों का चलना हुआ मुश्किल*

भेलसर(अयोध्या)प्रदेश सरकार जहां एक तरफ गड्ढा मुक्त सड़को का दावा कर रही है वही दूसरी और लोग क्षेत्र में मौजूद गड्ढे युक्त सड़को पर गिर कर चोटिल हो रहे हैं।
मामला विकास खण्ड मवई के ग्राम सभा लखनीपुर के बरौली मार्ग की हालत बद से बदतर हो चुकी है सड़क पूरी तरह से उजड़कर गड्ढों में तबदील हो चुकी है जिस पर ग्रामीणों का चलना काफ़ी मुश्किल हो गया है।इस गड्ढा युक्त सड़क पर चलने से राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।जबकि यह सड़क लखनीपुर,बीबीपुर,खपरहिया,बरौली सहित गर्जनों गांवों के लोगों के आने जाने का मुख्य रास्ता है जो गांव से होते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाकर जोड़ती है।लेकिन इस जर्जर सड़क हालत आज भी बद से बदतर है।वहीं क्षेत्र के ग्रामीणों का कहना हैं की इस सड़क पर लगभग 20 वर्ष पहले डामरीकरण हुआ था और तब से इस सड़क की दुर्दशा है आज तक इस सड़क पर कोई कार्य नहीं हुआ और अब इस सड़क पर चलना भी मुस्किल हो गया है जो खतरे से खाली नहीं है।ग्रामीणों ने बताया कि इसी रोड से हम लोगों को किसी न किसी काम को लेकर हर वक्त आना जाना रहता हैं और आए दिन कोई न कोई व्यक्ति गड्ढे युक्त सड़क पर राहगीर गिर कर चोटिल होते रहते है।लगभग 20 वर्ष पहले बनी इस सड़क पर आज तक न किसी पार्टी का कोई नेता न विधायक और न ही किसी अधिकारी ने इस सड़क पर नजर डाली।बीबीपुर गांव निवासी मायाराम व दिनेश कुमार ने बताया कि हम लोगो को इसी गड्ढा युक्त सड़क से हर आवश्यक कार्य के लिए निकलना पड़ता है कभी हॉस्पिटल तो कभी अन्य कार्य को लेकर आना जाना रहता है लेकिन इस सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है।इन लोगों ने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार गड्ढा मुक्त सड़क का दावा कर रही लेकिन 20 वर्ष पूर्व बनी सड़क पर आज तक डामर तक नहीं पड़ सका है जब कि इस सड़क से विधायक सहित उच्चाधिकारियों का भी लगातार आना जाना लगा रहता है।इन लोगों ने कहा कि सरकार की गड्ढा मुक्त सड़क का दावा इसी गड्ढा युक्त सड़क देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है की क्षेत्र की अन्य जर्जर सड़कों का किया हाल होगा।

You may have missed