July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

अयोध्या 03 जून *स्थगन आदेश का उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पीड़ित ने की आन लाइन शिकायत*

*अब्दुल जब्बार एडवोकेट व जगदम्बा श्रीवास्तव की रिपोर्ट*

अयोध्या 03 जून *स्थगन आदेश का उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पीड़ित ने की आन लाइन शिकायत*

भेलसर(अयोध्या)रुदौली तहसील क्षेत्र में जमीनी विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा है।कहीं पर हल्का लेखपाल की मिलीभगत तो कहीं पर पुलिस का हस्तक्षेप हमेशा भू माफियाओं के साथ बना रहता है।यह आरोप तहसील का चक्कर काटने वाले पीड़ित खुद लगा रहे हैं।ताजा मामला तहसील क्षेत्र के मीसा गांव का है।गांव निवासी मो0 सफीक खान पुत्र मोहम्मद शरीफ खान के द्वारा एसडीएम व मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर ऑनलाइन कर विचाराधीन मामले में हो रहे निर्माण को रोकने की मांग की है।मोहम्मद शफीक खा ने बताया कि गाटा संख्या 256 रकबा 0.455 हेक्टेयर व गाटा संख्या 0261 रकबा 1.725 हेक्टेयर हमारे पिता के नाम रजिस्टर्ड थी।उनकी मृत्यु के बाद उनके वारिस द्वारा तहसीलदार न्यायिक के यहां नामांतरण वाद दाखिल किया गया। मामला न्यायालय में विचाराधीन है।साथ ही न्यायालय के द्वारा स्थगन आदेश 8 मार्च 2021को पारित हुआ है।जिसकी अगली तारीख 4 जून नियत है।बावजूद इसके दबंगई के बल पर हल्का लेखपाल की मेहरबानी के चलते विपक्षी के द्वारा विवादित भूमि पर टीनसेट लगाकर मुर्गी फार्म कुल्लड़ का कारखाना स्थापित कर दिया गया।मामले की दर्जनों बार शिकायत एसडीएम व तहसीलदार से की गई जिसमें हल्का लेखपाल के द्वारा अधिकारियों को गुमराह करने के लिए झूठी रिपोर्ट काम रुकवा देने की प्रेषित की जा रही है।हल्का लेखपाल राम शंकर गुप्ता ने बताया कि शिकायत के बाद हमारे द्वारा काम को रुकवा दिया गया था।उसके बावजूद मेराज के द्वारा जबरन एक नहीं तीन-तीन मुर्गी फार्म का निर्माण करा दिया गया।वह घर के दबंग टाइप के आदमी है हमारे द्वारा स्पाट मेमो बना कर दिया गया है और अग्रिम कार्रवाई के लिए मोहम्मद शफीक को बता दिया गया है कि न्यायालय से लेकर कोतवाली में तहरीर देकर विपक्षी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएं।जो भी निर्माण हुआ है वह स्थगन आदेश के बाद ही कराया गया है।