July 5, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *विद्युत करंट की चपेट में आने से 32 वर्षीय युवक की मौत।*

अयोध्या।
विधुत करंट की चपेट में आने से 32 वर्षीय युवक की मौत। कपड़ों की सिलाई करते समय सिलाई मशीन के मोटर पर उतरा करंट। जिसके चपेट में आने से हुआ हादसा। थाना तारुन के पुलिस चौकी गयासपुर क्षेत्र के शेरपुर खपरैला रामनगर की घटना।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: पटना ।

बिहार उन कुछ गिने चुने राज्यों में शामिल हो गया है जहां वेब मीडिया नीति को मंजूरी दे दी गई है। . वेब जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने बिहार के मुख्यमंत्री एवं सूचना मंत्री का शुक्रिया अदा किया है। .

एसोसिएशन ने उम्मीद जाहिर की है कि इस फैसले से देश व प्रदेश में स्वच्छ और स्वतंत्र पत्रकारिता को नया आयाम मिलेगा.।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *लखनऊ ब्रेकिंग*

यूपी बीजेपी में घमासान जारी

यूपी बीजेपी में अंत विरोध

सरकार के कामकाज को लेकर बीजेपी में विरोध

बीएल संतोष मंत्रियों से फीडबैक ले रहे है

दोनों यूपी के डिप्टी सीएम से अलग अलग बात हुई

बंद कमरे में बीएल संतोष ने किया है बात

स्वामी प्रसाद मौर्य से काफी देर तक बात किया है

यूपी बीजेपी के विधायक बेचैन है

विधायकों का कहना है उनसे भी मीटिंग की जाए

फिलहाल विधायकों से नहीं होगी कोई मीटिंग

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मीटिंग से निकलकर बड़ा बयान दिया है

2022 में हम फिर से चुनाव जीतेंगे, इस बार 300 के पार आकंडा होगा

डिप्टी सीएम के बयान देने के बाद बीजेपी में घमासान जारी
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *लखनऊ से छूटी तबादला एक्सप्रेस, गौतमबुद्ध नगर के डीएम की पत्नी गाजियाबाद की एडीएम बनीं, देखिए पूरी लिस्ट -*

कोरोनावायरस के कारण पहली महामारी के बीच राज्य में व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए सरकार ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। सोमवार की सुबह उत्तर प्रदेश में कई आईएएस और पीसीएस अफसरों के तबादले किए गए हैं। इनमें गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई (Suhas LY IAS) की पत्नी ऋतु सुहास का तबादला महत्वपूर्ण है। उन्हें लखनऊ विकास प्राधिकरण से गाजियाबाद में अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) बनाकर भेजा गया है।

लखनऊ से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश में PCS के साथ IAS का तबादला भी किया गया है। पीसीएस अफसर पूनम निगम को जालौन की अपर जिलाधिकारी बनाया गया है। प्रमिल कुमार सिंह अपर आयुक्त झांसी बने हैं। अमित राठौर को लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी में विशेष कार्याधिकारी बनाकर भेजा गया है। आईएएस अफसर सरनीत कौर ब्रोका उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम में एडिशनल मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। आईएएस अधिकारी दिव्यांशु पटेल उन्नाव जिले के मुख्य विकास अधिकारी बनाए गए हैं। तेज तर्रार पीसीएस अफसर रितु सुहास को गाजियाबाद की अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) बनाया गया है। रितु सुहास गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई की पत्नी हैं। वह अभी लखनऊ विकास प्राधिकरण में तैनात थीं।

मिसेज इंडिया-2019 रह चुकी है पीसीएस अफसर ऋतु सुहास
ऋतु सुहास 2004 बैच की पीसीएस अफसर है। अफसर होते हुए मिसेज इंडिया-2019 का खिताब जीतने वाली ऋतु सुहास प्रतियोगी स्टूडेंट के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं, क्योंकि कभी उनके पास कोचिंग और अखबार के महीने पूरे होने पर पैसे नहीं जुट पाते थे। उन्होंने अपनी एक सहेली के नोट्स के माध्यम से सेल्फ स्टडी कर अपना मुकाम हासिल किया है।

*छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर की शुरुआत*

ऋतु ने बताया कि, घर में फाइनेंसियल प्रॉब्लम काफी ज्यादा थी, कोचिंग की फीस जमा करने के लिए पैसे नहीं थे। एक इंग्लिश न्यूज पेपर डेली पढ़ती थी। लेकिन, महीने में पैसे देने के लिए नहीं जुट पाते थे। इसलिए छोटे-छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया। ऋतु सुहास ने 2003 में पीसीएस की तैयारी करने का डिसीजन किया था। रिश्तेदार घर से बाहर निकलकर पढ़ाई करने से खुश नहीं थे। लेकिन, पैरेंट्स ने मेरा पूरा सपोर्ट किया। मां एक-एक पैसे जोड़ा करती थी। ताकि हम भाई बहन की छोटी-छोटी जरुरतें पूरी हो सकें।

*2008 में हुई सुहास एलवाई से शादी*

ऋतु ने बताया कि मेरी एक फ्रैंड थी, वह भी पीसीएस की कोचिंग करती थी। मैं रोज शाम को उसके घर जाकर उसके नोट्स से अपना नोट्स तैयार करती थी। बाद में उसे पढ़ा करती थी। मेरी मैरिज 2008 में सुहास एलवाई से हुई थी, मेरे 2 बच्चे हैं।

पीसीएस संतोष वैश्य अपर आयुक्त आजमगढ़ बने हैं। कमलेश सिद्धार्थनगर के अपर जिलाधिकारी न्यायिक बने हैं। श्याम अवध चौहान को गाजियाबाद का एसएलएओ बनाकर भेजा गया है। राज्य सरकार ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से अपने नवीन तैनाती स्थलों पर जाकर ज्वाइन करने का आदेश दिया है
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *सतीश द्विवेदी पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं, सीएम का जीरो टॉलरेंस बस दिखावा – संजय सिंह*

*शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के फर्जीवाड़ा, घोटालों के खिलाफ AAP सांसद संजय सिंह ने लोकायुक्त से की शिकायत*

– प्रदेश में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बंद होने के बाद भी कोरोना काल में बच्चियों के नाम पर हुई 9 करोड़ रुपये की निकासी पर आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी ने उठाए सवाल

लखनऊ। भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी पर आम आदमी पार्टी ने सोमवार को एक बार फिर करारा हमला बोला। पार्टी के यूपी प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने प्रदेश में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बंद होने के बाद भी कोरोना काल में बच्चियों के नाम पर 9 करोड़ रुपये की निकासी पर सवाल उठाते हुए इसे बेसिक शिक्षा मंत्री का एक और भ्रष्टाचार बताया।
संजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने एक शब्द का इस्तेमाल किया था आपदा में अवसर, लेकिन उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इसको मुसीबत में घोटाला के रूप में परिवर्तित कर दिया। जब पूरे उत्तर प्रदेश में त्राहि-त्राहि मची थी, महामारी के कारण लोगों की जान जा रही थी उस वक्त उत्तर प्रदेश के अधिकारी घोटाले और भ्रष्टाचार करने में व्यस्त थे। इसके एक नहीं मैं कई कई प्रमाण दे चुका हूं।
11 फरवरी से 31 मार्च तक कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय जो अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग की बच्चियों के लिए होता है, उस बंद विद्यालय में बच्चियों के भोजन साबुन तेल इत्यादि के नाम पर पैसा निकाल लिया गया। बेसिक शिक्षा मंत्री के अधीन आने वाले विद्यालय में 9 करोड रुपये इस तरह से निकाल लिए गए। महा निदेशक बेसिक शिक्षा ने इसे लेकर उन सभी जिलों के बीएसए को पत्र लिखा है, जिस में सामने आया है कि बरेली में 84 लाख, बिजनौर में 74 लाख, देवरिया में 68 लाख, फतेहपुर में 31 लाख, गाजियाबाद में 18 लाख, गोंडा में 96 लाक काशीराम नगर में 31 लाख, मऊ में 23 लाख, मेरठ में 26 लाख, मुरादाबाद में 39 लाख, प्रतापगढ़ में 76 लाख, रायबरेली में 63 लाख, संत कबीर नगर में 38 लाख, श्रावस्ती में 26 लाख, सोनभद्र में 46 लाख सुल्तानपुर में 44 लाख, उन्नाव में 47 लाख और वाराणसी जो कि प्रधानमंत्री क संसदीय क्षेत्र वहां 35 लाख रुपये निकाल लिए गए।
महानिदेशक की ओर से 2020 में नियम बनाया गया था कि कक्षाओं में सभी बच्चियों की फोटो प्रेरणा पोर्टल पर अपडेट करने के बाद ही उनके खर्च का भुगतान किया जाएगा। इसमें किसी भी अनियमितता पर बेसिक शिक्षा अधिकारी को सीधे तौर पर जिम्मेदार बनाया गया था। हद तो यह है कि सोनभद्र में भी इस तरह घोटाला करके गरीब बच्चियों के नाम पर पैसा निकाला गया, जहां के प्रभारी मंत्री खुद बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी हैं।
इस तरह से बेसिक शिक्षा मंत्री के अधीन आने वाले कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में महामारी के दौरान जमकर भ्रष्टाचार किया गया। बेसिक शिक्षा मंत्री द्वारा महामारी के दौरान बच्चों के मिड डे मील जूते बस्ते इत्यादि का पैसा खाया गया। गरीब बच्चियों की उपस्थिति शून्य होने के बाद भी उनके विभाग में इन बच्चियों के नाम पर भोजन साबुन इत्यादि खर्चों के नाम पर 9 करोड़ रुपए निकाले गए। इसके बाद भी अब तक भ्रष्टाचारी बेसिक शिक्षा मंत्री पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। ऐसे में मैं कहना चाहूंगा कि योगी आदित्यनाथ की जीरो टॉलरेंस नीति महज दिखावा है। बेसिक शिक्षा मंत्री के एक के बाद एक कई भ्रष्टाचार के मामले प्रमाण सहित मैंने सामने रखे, फिर भी उनके खिलाफ अब तक कुछ भी नहीं किया गया। बच्चों की शिक्षा के लिए आवंटित रुपयों का भ्रष्टाचार करके बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी एक के बाद एक प्रॉपर्टी पर प्रॉपर्टी बना रहे हैं। इटवा के शनिचरा बाजार में अब उनके भाई के नाम से एक और प्रॉपर्टी सामने आई है। जिस जमीन का सर्किल रेट 20 लाख रुपये है उसे मंत्री के भाई ने महज 12 लाख रुपये में खरीदा है। वह भी तब जब कि उनका पेशा कृषि है। ऐसे में प्रधानमंत्री से मेरी अपील है कि कम से कम अपने संसदीय क्षेत्र की गरीब बच्चियों के भोजन कपड़े इत्यादि के नाम पर किए गए भ्रष्टाचार के मामले में वह ठोस कार्यवाही करें। प्रेसवार्ता में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष इंजी इमरान लतीफ मौजूद रहे ।
*लोकायुक्त से की कार्रवाई की मांग*
राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी पर भ्रष्टाचार करके जमीनें खरीदने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत लोकायुक्त से की है। शिकायती पत्र में संजय सिंह ने उन सभी संपत्तियों का जिक्र किया है जो मंत्री ने अपने कार्यकाल के दौरान खरीदी हैं। सर्किल रेट से कम कीमत देकर खरीदी गई इन जमीनों की बाबत संजय सिंह ने सबूत के तौर पर विक्रय अभिलेख भी लोकायुक्त को भेजे हैं। उन्होंने लोकायुक्त से पूरे मामले की जांच की मांग की है।
*71 मौतों पर निलंबन की कार्यवाही, मामले की लीपापोती*
संजय सिंह ने नकली शराब के कारण अलीगढ़ में हुई 71 मौतों को लेकर एक बार फिर सरकार पर हमला बोला। कहा कि सरकारी देसी शराब की दुकान से शराब खरीद कर पीने पर लोगों की मौतें हुई हैं, ऐसे में इस घटना को सरकार द्वारा प्रायोजित हत्या का मामला माना जाना चाहिए। मैं पूछना चाहूंगा कि इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब तक अलीगढ़ के कितने अफसरों को जेल भेजा है। संजय सिंह ने निलंबन की कार्यवाही को मामले की लीपापोती का प्रयास बताया।
*किस अपराध के लिए 10 माह से जेल में है खुशी दुबे*
संजय सिंह ने बिकरू कांड के आरोपी अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे को 10 माह से जेल में सड़ाने को लेकर भी सरकार पर सवाल उठाए। कहा कि बाराबंकी के नाबालिगों की जेल में बंद खुशी दुबे को लेकर कानपुर के पूर्व एसएसपी पहले ही कह चुके हैं कि उसका घटना में कोई हाथ नहीं है और उसे छोड़ा जाएगा। इसके बावजूद यह सरकार बदले की किस मानसिकता के साथ उसे 10 माह से जेल में सड़ा रही है, मुख्यमंत्री को सामने आकर इसका जवाब देना चाहिए।

प्रेसवार्ता के दौरान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह, प्रदेश सहप्रभारी नदीम असरफ जायसी, प्रदेश उपाध्यक्ष इंजी इमरान लतीफ मौजूद रहे ।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *यूपी के अगले डीजीपी की तलाश तेज,नौ नाम दौड़ में*

*लखनऊ।*
यूपी के वर्तमान डीजीपी एचसी अवस्थी 30 जून को रिटायर हो रहे हैं लिहाज़ा नए डीजीपी को चुनने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।
सीनियरिटी लिस्ट में सबसे ऊपर नासिर कमाल हैं,जो फिलहाल केंद्र में तैनात हैं,जिनके यूपी लौटने की उम्मीद कम ही है.दूसरे नंबर पर मुकुल गोयल हैं,यह भी केंद्र में तैनात हैं.मुकुल गोयल यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं और अखिलेश यादव की सरकार में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर भी रह चुके हैं.यही इनके लिए फायदेमंद है और नुकसानदेह भी
तीसरे नंबर पर यूपी के डीजी ईओडब्ल्यू और एसआईटी डॉक्टर आरपी सिंह हैं
बीते दो साल से डॉक्टर आरपी सिंह के पास ईओडब्ल्यू और एसआईटी का चार्ज है.पावर कारपोरेशन का पीएफ घोटाला, जल निगम भर्ती घोटाला,बाइक बोट घोटाले जैसे बड़े मामलों की जांच डॉक्टर आरपी सिंह के विभाग के पास ही है.आरपी सिंह प्रदेश में मौजूद सबसे सीनियर आईपीएस अफसर हैैं.इसके बाद सीनियरिटी लिस्ट में चौथा नंबर विश्वजीत महापात्रा का है,जो कुछ समय पहले तक डीजी सीबीसीआईडी थे,लेकिन उन्हें हटाकर फिलहाल वेटिंग में डाला गया है।
गोपाल लाल मीणा और आर के विश्वकर्मा भी दावेदार हैं।
पांचवे नंबर पर डीजी राज्य मानवाधिकार आयोग गोपाल लाल मीणा हैं गोपाल लाल मीणा के डीजी होमगार्ड रहते हुए वहां पर एक फर्जीवाड़े का मामला सामने आया था,जिसके बाद सरकार उनसे नाराज हुई थी और उन्हें पद से हटाया गया था
छठे नंबर पर डीजी भर्ती बोर्ड और फायर सर्विस आरके विश्वकर्मा हैैं आरके विश्वकर्मा को टेक्नोक्रेट माना जाता है और यूपी पुलिस में तेजी से हो रही  भर्तियों के चलते वह सुर्खियों में रहते हैं पिछड़े वर्ग से आने वाले विश्वकर्मा जातीय समीकरण के चलते भी चर्चा में हैं।
सातवें नंबर पर डॉ देवेंद्र सिंह चौहान का नाम है डॉ चौहान को राज्य सरकार ने ही पिछले साल केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस बुलाया था जिस वजह से उन्हें सरकार का करीबी माना जाता है इस समय डॉक्टर चौहान यूूपी के डीजी इंटेलिजेंस हैंं।
आठवें नंबर पर अनिल अग्रवाल का नाम है जो फिलहाल केंद्र में तैनात हैं।
अखिलेश यादव की सरकार में यूपी 100 को स्थापित करने में अनिल अग्रवाल की अहम भूमिका थी।
नवें नंबर पर डीजी जेल और सिविल डिफेंस आनंद कुमार का नाम आता है आनंद कुमार योगी सरकार में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर रह चुके हैं और प्रदेश सरकार की अघोषित एनकाउंटर पॉलिसी के झंडा बरदार भी कहे जाते हैं।
30 साल की नौकरी और डीजी का ओहदा पा चुके 1990 बैच के बैठक के आईपीएस अधिकारियों की लिस्ट केंद्र सरकार को भेज दी गई है केंद्र सरकार इस लिस्ट को यूपीएससी को भेजता हैै यूपीएससी के साथ यूपी के मुख्य सचिव की बैठक होती है,जिसमें राज्य सरकार की पसंद और नापसंद के अधिकारियों के बारे में भी चर्चा होती है और फिर चुना जाता है डीजीपी।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *दिव्यांग जनों को शादी के लिए मिलेंगे 35 हजार रुपए*

अयोध्या । जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग लखनऊ द्वारा संचालित दिव्यांगजन शादी-विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अन्तर्गत युवक के दिव्यांग होने की दशा में रू0 15000/ रूपये व युवती के दिव्यांग होने की दशा में रू0 20,000/ रूपये तथा युवक-युवती दोनों के दिव्यांग होने की दशा में रू0 35,000/ रूपये की धनराशि प्रदान की जायेगी।
उक्त जानकारी देते हुये जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी ने बताया कि शादी के समय युवक की आयु 21 वर्ष से कम तथा 45 वर्ष से अधिक न हो व युवती की 18 वर्ष से कम एवं 45 वर्ष से अधिक न हो। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रदत्त दिव्यांग प्रमाण पत्र के अनुसार दिव्यांगता 40 प्रतिशत या उससे अधिक होनी चाहिए। ऐसे दिव्यांग दम्पत्ति पात्र होंगे जिनका विवाह गत वित्तीय वर्ष एवं वर्तमान वित्तीय वर्ष में हुआ हों। इस योजना के लिए शादी विवाह का रजिस्ट्रेशन कराया जाना अनिवार्य है तथा आवेदन करते समय रजिस्ट्रेशन संख्या अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अन्तर्गत इच्छुक दिव्यांग दम्पत्ति वर्तमान वर्ष एवं गत वित्तीय वर्ष में सम्पन्न शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार हेतु आनलाइन  आवेदन कर सकते है। आनलाइन आवेदन करते समय आवेदन दम्पत्ति को दिव्यांगता प्रदर्शित करने वाला संयुक्त नवीनतम फोटो, विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र, आय व जाति प्रमाण पत्र, युवक एवं युवती का आयु का प्रमाण सक्षम अधिकारी से निर्गत दिव्यांगता प्रमाण पत्र, राष्ट्रीयकृत बैंक में संचालित संयुक्त खाता, अधिवास का प्रमाण पत्र एवं युवक, युवती का आधार कार्ड की छायाप्रति आदि अभिलेखों के साथ आवेदन पत्र आनलाइन उक्त बेबसाइड पर करना अनिवार्य है। साथ ही आनलाइन सम्मिट आवेदन पत्र की प्रिंट प्रति एवं वांछित प्रपत्रों की हार्डकापी कार्यालय जिला दिव्यांगजन एवं सशक्तीकरण अधिकारी विकास भवन के कार्यालय में प्राप्त करें। अधिक जानकारी के लिए कार्यालय में किसी भी कार्यदिवस में सम्पर्क कर सकते है।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: ब्रेकिंग

 

दिल्ली।
सीबीएसई 12वीं की परीक्षा रद्द। पीएम मोदी ने कहा बच्चों की सेहत और सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता। छात्रों के हित में परीक्षा रद्द करने का लिया गया फैसला।तनाव भरे माहौल में बच्चों को एग्जाम के लिए दबाव नहीं डाल सकते।छात्रों अभिभावकों शिक्षकों के तनाव को खत्म करना होगा। छात्रों के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत- पीएम मोदी
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: ब्रेकिंग

 

अयोध्या ।
थाना इनायतनगर के मुंगेशपुर गांव के आक्रोशित ग्रामीणों ने रायबरेली राजमार्ग को किया जाम।करीब 1घंटो तक ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन।कोतवाल इनायतनगर के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने बंद किया प्रदर्शन।
मुंगेशपुर पूरे मठिया गांव की एक महिला ने गांव के ही एक युवक पर लगाया है दुष्कर्म का आरोप । ग्रामीणों के अनुसार महिला गांव के कई लोगों पर लगा चुकी है दुष्कर्म का झूठा आरोप।झूठे आरोप से नाराज ग्रामीणों ने अयोध्या रायबरेली रोड किया था जाम।कर रहे थे प्रदर्शन। इनायतनगर पुलिस ने ग्रामीणों को दिया आश्वासन। नहीं की जाएगी कोई फर्जी कार्रवाई। आश्वासन के बाद नाराज ग्रामीणों ने खोला मार्ग।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: यूपी के नए डीजीपी को लेकर मंथन

डीजीपी यूपी हितेश चन्द्र अवस्थी इसी माह हो रहे रिटायर

बीएसएफ़ में तैनात मुकुल गोयल, डीजी EOW डॉ आरपी सिंह, डीजी भर्ती बोर्ड राज कुमार विश्वकर्मा, डीजी जेल आनन्द कुमार, डीजी होम गार्ड विजय कुमार समेत 30 साल की सेवा दे चुके आईपीएस अफ़सरों का नाम

1990 बैच तक के आईपीएस अफ़सरों का नाम भी भेजा जा सकता
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: लखनऊ
यूपी में SIT विभाग की लगातार कार्रवाई से हड़कंप

सहारनपुर में एसआईटी की कार्यवाही में बड़ा खुलासा

DG एसआईटी आरपी सिंह के नेतृत्व में बड़ी एक्साइज चोरी का खुलासा

सहारनपुर में देसी शराब फैक्ट्री ने की 35 करोड़ की एक्साइज चोरी

9 लोगों पर के विरुद्ध चार्जशीट भेज विवेचना में जुटी एसआईटी

शराब के डुप्लीकेट बारकोड और क्यूआर कोड के दुरुपयोग का भी खुलासा
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: RSS पदाधिकरियों और बीएल संतोष के बीच मीटिंग

RSS के यूपी के प्रमुख नेता मीटिंग में रहे मौजूद

बीएल संतोष ने RSS से भी फीडबैक लिया

संगठन और सरकार के बाद RSS से चर्चा
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *भाजपा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि राष्ट्रीय संगठन महामंत्री किसी राज्य के मुख्यालय में पहुंचकर..एक-एक मंत्रियों से 10 से 20 मिनट बात करते हैं और निकलने वाले मंत्री कहते हैं कि हम सभी 2022 के चुनाव में लगे.*

*संगठन महामंत्री की समीक्षा के पीछे का राज..जल्द ही सामने आएगा.!*
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: ब्रेकिंग बाराबंकी

बच्ची की मौत पर सीएमओ के बायन के बाद गर्माया मामला,

ग्रामीणों ने जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शुरू किया धरना,

बीजेपी के पूर्व विधायक सुंदर लाल दीक्षित ने सीएमओ को सुनाई खरी-खोटी,

पूर्व विधायक ने फोन पर सीएमओ से कहा- सरकार की छवि धूमिल न करें,

तासीपुर निवासी शख्स की दुधमुंही बच्ची की इलाज न मिलने के चलते हुई थी मौत,

सिरौलीगोसपुर संयुक्त चिकित्सालयव में इलाज न मिलने के चलते हुई थी मौत।
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *बिहार में एंबुलेंस घोटाला: 21 लाख में खरीदी गई 7 लाख की एंबुलेंस!*
[6/2, 7:42 AM] +91 94155 29848: *बीजेपी नेता स्वपन दास गुप्ता दोबारा बने राज्‍यसभा सदस्‍य, बंगाल चुनावों के लिए दिया था इस्‍तीफा*
[6/2, 7:43 AM] +91 94155 29848: *बीजेपी के युवा नेता सुशील मिश्रा ने सीएम योगी से खुशी दुबे मामले पर ध्यान दिलाने की अपील की* .

️ *पुलिस दस महीने में आरोप साबित क्यों नहीं कर पाई, अगर वह निर्दोष है तो खुशी दुबे अब तक सलाखों के पीछे क्यों है: सुशील मिश्रा*

️ *दस माह में चार्जशीट क्यों नहीं दाखिल कर पाई पुलिस की जिम्मेदारी तय : सुशील मिश्रा*

️ *सीएम की छवि धूमिल करने में ऊँचे पदों पर बैठे अधिकारी दिन-रात ले रहे हैं: सुशील मिश्रा*

_अयोध्या।अयोध्या जिले की मिल्कीपुर तहसील के कुचेरा बाजार निवासी भाजपा युवा नेता सुशील मिश्रा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से देश के सबसे चर्चित कानपुर बिकरू कांड में दस महीने से जेल में बंद अपनी पत्नी अमर दुबे पर गंभीरता से ध्यान देने की अपील की है. कर चुके हैं युवा भाजपा नेता सुशील मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को ट्वीट किया मैं आपका ध्यान देश के सबसे प्रसिद्ध कानपुर के बिकरू कांड की ओर दिलाना चाहता हूं जिसमें कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों ने निर्दोष पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या कर दी थी. उन जघन्य अपराधियों के पापों की सजा देने के लिए मैं आपको धन्यवाद देना चाहता हूं कि ऐसे अपराधियों के साथ ऐसा ही किया जाना चाहिए, लेकिन उसी मामले में विकास दुबे के साथी अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे, जिनकी शादी महज घटना से तीन दिन पहले हुई थी, पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और आज के बाद महीनों पुलिस आरोप तय नहीं कर पाई मैं आपसे सिर्फ इतना पूछना चाहता हूं कि अगर खुशी दुबे भी दोषी हैं तो उन्हें पूरी सजा मिलनी चाहिए मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन पुलिस के आरोप आज तक तय क्यों नहीं हैं अगर आप कर सकते हैं और अगर आप निर्दोष हैं तो क्यों क्या आपको सलाखों के पीछे रखा गया है। आपसे अनुरोध है कि पुलिस को जवाब दें। इतने महीनों के बाद भी आरोप पत्र दाखिल क्यों नहीं किया गया जिन्होंने अपराध किया, सभी लोग जिन्हें उनके अपराधों के लिए दंडित किया गया था। समझ गया ख़ुशी दुबे बेगुनाह है तो उसे तुरंत रिहा करो, लोगों की भावनाओं से जुड़ी उम्मीदें हैं मुझे विश्वास है कि आप न्याय करेंगे मुझे पता है कि आपके इरादे गलत नहीं हो सकते हैं लेकिन आपकी छवि को धूमिल करने के लिए पदों पर बैठे अधिकारी और अधिकारी दिन और रात क्योंकि उनकी दाल तुम्हारी जगह नहीं होगी। वे आपको और आपकी सरकार को बदनाम करना चाहते हैं। आपसे अनुरोध है कि इस मामले को संज्ञान में लेते हुए उचित कार्रवाई करें रिपोर्ट है कि अमर दुबे से शादी करने वाली नाबालिग खुशी दुबे को कानपुर के बिकरू कांड से ठीक दो दिन पहले जुलाई 2020, 2020 को गिरफ्तार किया गया था, पुलिस का आरोप है कि अमर की नवविवाहितों ने पुलिस पर हमला करने के लिए लोगों पर हमला भी किया था। बाराबंकी में भेजे जाने के बाद अमर की पत्नी को अदालत में नाबालिग साबित होने के बाद किशोर अदालत में पेश किया गया_
रिपोर्ट सन्तोष पाठक
डीआरएस न्यूज नेटवर्क
[6/2, 11:05 AM] +91 94155 29848: *अब्दुल जब्बार एडवोकेट*

*ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत*

*पटरंगा थाना क्षेत्र के सुल्तान पुर गांव का हैं मामला*

भेलसर(अयोध्या)पटरंगा थाना क्षेत्र सुल्तानपुर गांव के एक युवक का शव गोंडा जनपद के उमरी बेगम गंज थाना क्षेत्र से लाया गया है।जिस की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।सूचना पर पहुंची पटरंगा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेजा गया है।चर्चा है कि व्यक्ति का किसी महिला के साथ अवैध संबंध था जबकि कुछ अन्य बता रहे हैं फांसी लगा कर आत्म हत्या हुई हैं।फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत का सही कारण पता चल सकेगा।
जानकारी के अनुसार पटरंगा थाना क्षेत्र के सुल्तान पुर गांव निवासी शिवरदान सिंह उम्र करीब 40 वर्ष पुत्र स्वर्गीय हरिमान सिंह की ससुराल गोंडा जनपद के उमरी बेगम गंज थाना क्षेत्र में है।वह वही पर गया था।घरवालों को सूचना मिली कि यहां पर शिव वरदान सिंह की मौत हो गई हैं घर के लोग वहां पर पहुंच कर शव को अपने घर सुल्तानपुर गांव ले आये और सूचना पटरंगा पुलिस को दी।सूचना पर हल्का दरोगा सुधीर कुमार,कांस्टेबल रामकिसुन व आशीष कुमार यादव मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेजा गया है।वरिष्ठ उपनिरीक्षक सुधाकर यादव ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेजा गया है रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का सही कारण स्पष्ट हो सकेगा।फिर भी जांच शुरू कर दी गई हैं।