December 8, 2022

UPAAJTAK

TEZ KHABAR

अयोध्या 02 जून*भाजपा की उल्टी गिनती शुरू 2022 में सपा इतिहास रचेगी: श्रीचंद

अयोध्या 02 जून*भाजपा की उल्टी गिनती शुरू 2022 में सपा इतिहास रचेगी: श्रीचंद

फ़ोटो

अयोध्या। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य दिवास्वप्न देख रहे हैं। उनका कहना कि भाजपा 2022 में 300 सीटें जीतेगी यह बचकाना आदत व दिन में सपना देखने जैसा मात्र है। भाजपा 2022 में बहुत बुरी तरह हारेगी। उक्त बातें अयोध्या सपा महानगर उपाध्यक्ष श्रीचंद यादव ने एक वार्ता में कहीं।

उत्तर प्रदेश की जनता सपा प्रमुख व पूर्व सीएम अखिलेश यादव से कार्यो से खुश है। उत्तर प्रदेश और अयोध्या का विकास पूर्व सीयम अखिलेश यादव और सपा की देन है। उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा के विकास विरोधी व जनविरोधी कार्यों से बहुत दुखी हैं। भाजपा सरकार ने युवाओं को बेरोजगार बना दिया है। किसानों की खेती चौपट करवा दी। रोजी रोजगार सब बर्बाद कर दिया। शिक्षा को चौपट कर दिया, बेरोजगारी लाकर सबका भविष्य बर्बाद कर दिया है।
आज किसान छात्र नौजवान सभी चारों ओर से निराश और दुखी है। उत्तर प्रदेश की जनता आशा भरी निगाहों से सपा प्रमुख अखिलेश यादव की तरफ आस लगाए हुए बैठी है। अबकी बार 2022 में समाजवादी पार्टी को प्रचंड बहुमत प्राप्त होगी और उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव बनेंगे। समाजवादी पार्टी के महानगर उपाध्यक्ष श्री चंद यादव ने कहा कि आने वाला समय अब सपा का है। युवा किसान छात्र व जनता सभी समाजवादी पार्टी की सरकार चाहती हैं। एक समाजवादी पार्टी ही है जो सभी वर्गों धर्मों का सम्मान करती है। कोरोना काल में भाजपा सरकार ने ना तो बिजली माफ किया ना पानी का बिल माफ किया न तो टैक्स ही कम किया। जनता आजकल त्राहि-त्राहि कर रही है। भाजपा से आम जनमानस का विश्वास उठ चुका है। 2022 में समाजवादी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी साबित होगी। उत्तर प्रदेश की जनता 2022 में सपा को वोट देकर समाजवादी पार्टी की सरकार बनायेगी।
ताकि अखिलेश यादव के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाया जा सके। सपा की सरकार ही प्रदेश को उन्नति और विकास की ओर ले जा सकती हैं। जब जनता शिक्षित और विकसित होगी तो देश और समाज उन्नति करेगा। भाजपा की सरकार ने शिक्षा को बर्बाद कर दिया है। स्वास्थ्य व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। यूपी में जंगलराज कायम है। कोरोना काल में बहुतों ने इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया। डॉक्टर पत्रकारों व सिपाही सहित अन्य लोगों की कोरोना के कारण मृत हो गई। उनकी सुधि लेने वाला कोई नहीं है। सरकार को चाहिए कि हर मृतक परिवार को एक- एक करोड़ की मदद करें।